मायावती को अब क्या करना चाहिये ?

इस बात की उम्मीद सभी लगाये हुये थे कि मायावती दुबारा मुख्य मन्त्री बनेगी लेकिन यह न हो सका और चुनाव के परिणाम जैसे आये हैं , उनके कारण मै गिना चुका हूं /

जो बीत गया सो बीत गया और जब जागिये तब सवेरा, इस मन्त्र को ध्यान मे रखकर दुबारा पूरे जोर शोर से एक सूत्रीय कार्यक्रम बनाकर सन २०१४ के चुनाव पर लक्ष्य बनायें /

१- मयावती जी आप याद करें , जब आपनें विधान सभा २००७ की तैयारी चुनाव होने के तीन साल पहले से ही यानी सन २००४ और २००५ से ही विधान सभा वार शुरू कर दी थी और उस समय आपने जिस विधान सभा से जो भी condidate लडाना था , उसका चयन करके पूरे विधान सभा क्षेत्र में उसको प्रचार के लिये लगा दिया था, नतीजा बहुत positive मिला था / इसी modus opreandi को अमल में लाइये, अभी से शुरुआत करेन्गी तो लोक सभा के चुनाव में आपको अवश्य सफ़लता मिलेगी /

२- यह तय है कि समाजवादी पार्टी से लोगों का मोह भन्ग अवश्य होगा / अभी तो शुरूआत है, आगे आगे देखिये क्या गुल खिलते है / समाजवादी पार्टी ने इतने वादे कर दिये है, जिन्हे शायद पूरा करना असम्भव है / आप ऐसी स्तिथि का फायदा उठाइये /

३- हवा हवाई बघारने वाले कन्डीडेट को दूर रखिये, जमीन से जुडे़ कन्डीडेट को प्राथमिकता दें / आपके चाटुकारों ने आपको सही बात नही बतायी , इसी कारण से यह स्तिथि पैदा हुयी है / स्वार्थी तत्व सभी जगह है इनसे बचिये /

४- अपने एजेन्डा पर कायम रहें / यह समय ऐसा है कि जो कहें , उसे करें , यही विश्वास लोगों को महसूस होना चाहिये कि मायावती जो कहती है , वह करती भी है /

५- जनता की भावनाओं और जनता की नब्ज टटोलकर बयान बाजी करें / पिछली बार लोकपाल को लेकर आपकी टिप्पणी से जनता नाराज हुयी थी / ऐसे कई मौके आये जब अनर्गल बयान बाजी से आपकी छवि को धक्का पहुचा है /

अभी आपके पास बहुत समय है / काम करने के लिये समय बध्ध और चरण बध्ध कार्य्क्रम तय करें / मेहनत करें , आपको सफ़लता अवश्य मिलेगी /

एक टिप्पणी

  1. बहुत ही अच्छा आपने कहा है, ऐसा ही होना चाहिए, परन्तु मेरी एक राय है, सत्ता प्राप्त करने के बाद राजनेता ऐसे ही भूल जाते हैं, परन्तु हार का स्वाद चख लेने के बाद उनकी आँखें खुलती हैं। जनता के लिए जनता के नुमाइन्दें यदि हमेशा आँख खोले रहे तो वह राज रामराज्य से कम नहीं होगा।
    ब्रह्मानन्द मिश्र, इलाहाबाद

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s