आर०एस०एस० यानी राष्ट्रीय स्वयम सेवक सन्घ को नरेन्द्र मोदी जैसा ओजयुक्त व्यक्तित्व और देश के लिये राष्ट्रीय भावना से ओत प्रोत जैसी भावना रखने वाले स्वयम सेवक को देश का नेतृत्व करने के लिये अभी से भविष्य का ध्यान करते हुये तैयारी करना शुरू कर देना चाहिये

इसे अब सभी को स्वीकार कर लेना चाहिये कि प्रधान मन्त्री नरेन्द्र मोदी जैसा नेत्रूत्व देश का कर रहे है उससे देश के आम जन [ मै आम लोगो यानी कामन मैन की बात कह रहा हू, इसमे कोई भी और किसी भी राज्नीतिक दल या राज्नीति से जुडे   लोग नही शामिल है], बहुत खुश और प्रसन्न है /

मेरी देश के विभिन्न राज्यो के सामान्य यानी कामन मैन से बात होती रहती है और लगभग सभी विष्यो पर चर्चा होती है / प्रधान मन्त्री नरेन्द्र मोदी जिस तरह से देश के लिये काम कर रहे है उससे सभी यानी शत प्रतिशत लोग सन्तुष्ट नजर आये / किसी ने भी उनके नेत्रत्व की आलोचना नही की / महिलाये , नव युवक, सीनियर सिटीजन सभी से मेरी बात हुयी यहा तक कि जो वोटर भी नही है और जिनकी वोट देने की उम्र भी नही है और शायद साल दो साल बाद वे वोटर बन जाये , वे सबसे ज्यादा नरेन्द्र भाई मोदी से प्रभावित दिखे /

दूसरी बात एक यह और उभर कर आयी कि राष्ट्रीय स्वयम सेवक सन्घ से शायद अब देश के लोग उतना अछूत नही मानते जितना कि आज से दो साल पहले था / देश के लोग अब धीरे धीरे ही सही आर०एस०एस० को स्वीकार्य करने की मन और इच्छा बना रहे है / उनके मन मे जिस तरह का आर०एस०एस० का भय था वह मुझे लोगो का मन टटोलने पर उतना अधिक नही लगा जितना कि दो साल पहले था / इसका कारण मुझे यह समझ मे आया ह कि जितना बढा चढा कर प्रोपागन्डा किया गया , वह आम जन को लगा कि ये ऐसे नही है और वास्तविकता कुइछ दूसरी ही है /  हलाकि मुस्लिम बिरादरी के ९८ प्रतिशत जो लोग दो साल पहले नरेन्द्र मोदी और आर०एस०एस० को हिकारत भरी निगाहो से देखते थे , उनमे से आधे से अधिक लोग उहापोह की स्तिथी मे है कि वे आर०एस०एस० को अच्छा कहे या बुरा / लेकिन अधिकान्श मुस्लिम बिरादरी नरेन्द्र मोदी के कार्यो से अगर सहमत नही है तो उनका विरोध भी नही है / कुछ मुसल्मानो का कहना था कि अमेरिका को कोई अगर समझा सकता है तो नरेन्द्र मोदी ही समझा पायेन्गे /

तीसरी बात यह समझ मे आयी है कि देश के लोग यह अब अपेक्षा करने लगे है कि आर०एस०एस० भविष्य के लिये नरेन्द्र मोदी जैसी पाक साफ और कूब्त और हिम्मत वाला नेतृत्व देश को दे /

चौथी बात यह समझ मे आयी है कि लोग नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर प्रधान मन्त्री के स्वरूप मे देखना चाहते है क्योन्कि लोगो को लगता है कि पान्च साल नरेन्द्र मोदी को काम करने के लिये कम है इसलिये उनको एक और टर्म के लिये प्रधान मन्त्री बनाना चाहिये /

पान्चवी बात यह समझ मे आयी कि नरेन्द्र मोदी के बाद कौन प्रधान मन्त्री होगा और कैसा प्रधान मन्त्री होगा ? लोग तेज तर्राक प्रधान मन्त्री चाहते है जो कुछ कर सके क्योन्कि नरेन्द्र मोदी को दोसाल सरकार चलाने के   दो साल बाद अब जमीन स्तर पर नरेन्द्र मोदी  सरकार  की नीतिया आन्शिक ही सही , पहुचने लगी है /

मै सिर्फ इतना कहून्गा कि आर०एस०एस० को अभी से नरेन्द्र मोदी के उत्तराधिकारी की तलाश शुरू कर देना चाहिये ताकि आठ साल का समय बीतने के बाद वही गति और  हाई टेम्पो  का तारतम्य बना रहे जैसा नरेन्द्र मोदी अभी से बना रहे है और  आठ साल बाद छोड़्कर जायेन्गे  तब देश की जनता यही अपेक्षा करेगी कि इसी तरह की गति बनी रहे /

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s